Prophet Mohammad Row: पैगंबर मोहम्मद विवाद पर दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के लिखा पत्र, मांगी आपत्तिजनक सामग्री की जानकारी

 

Offensive Content on Social Media: पैगंबर मोहम्मद विवाद के बाद शुक्रवार को देश में फैली हिंसा पर दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर आपत्तिजनक सामग्री फैलाने वालों की जानकारी पत्र लिख मांगी.

Delhi Police Letter: पैगंबर मोहम्मद विवाद (Prophet Mohammad Row) पर देश में फैली हिंसा (Violence) के बाद दिल्ली पुलिस (Delhi Police) की इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रेटिजिक ऑपरेशन (IFSO) यूनिट ने शनिवार को सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स (Social Media Platforms) को चिट्ठी लिखी है. इस चिट्ठी में दिल्ली पुलिस ने ट्विटर (Twitter) के अलावा दूसरे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर आपत्तिजनक टिप्पणी (Offensive Language) करने वालों की जानकारी मांगी है. दिल्ली पुलिस आपत्तिजनक ट्वीट और मैसेज की सामग्री इकट्ठा कर रही है.

जानकारी के लिए बता दें कि बुधवार को दिल्ली की आईएफएसओ इकाई ने 31 लोगों से भी अधिक लोगों के खिलाफ 2 एफआईआर दर्ज की हैं. हालांकि मामले पर किसी भी व्यक्ति को समन नहीं भेजा गया है. पता हो कि न्यूज चैनल के साथ डिबेट में बीजेपी की पूर्व नेता नुपूर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादित टिप्पणी की जिसके बाद उन्हें पार्टी ने बाहर कर दिया.

मामले ने पकड़ा तूल और दर्ज हुई एफआईआर

हाल ही में दिल्ली पुलिस की आईएफएसओ इकाई ने सोशल मीडिया पर झूठ और गलत सूचना फैलाने पर रोक लगाने के तहत नुपूर शर्मा और नवीन जिंदल समेत कई लोगों पर मुकदमा दर्ज किया है. बुधवार को दर्ज हुई एफआईआर में कहा गया है कि घृणा से भरे संदेश फैलाने, समूहों को उकसाने और सार्वजनिक शांति को भंग करने के लिए हानिकारक वातावरण बनाने के तहत केस दर्ज किया गया है.

इन लोगों के नाम दर्ज है एफआईआर

एफआईआर (FIR) में दर्ज नामों की अगर बात करें तो इसमें नुपूर शर्मा (Nupur Sharma), नवीन जिंदल (Naveen Kumar Jindal), असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi), स्वामी यति नरसिम्हानंद, सबा नकवी, शादाब चौहान, मौलाना मुफ्ती नदीम, अब्दुर रहमान, गुलजार अंसारी, अनिल कुमार मीणा और पूजा शकुन के नाम शामिल हैं. ये 31 लोगों में से कुछ बड़े नाम हैं जिन पर दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने केस दर्ज (Register Case) किया है.

Post a Comment

Previous Post Next Post