Violence In UP: यूपी में फैली हिंसा पर सीएम योगी का निर्देश, संपत्ति के नुकसान की भरपाई दोषी से ही होगी

 

Action Against Violence: पैगंबर मोहम्मद पर विवादित टिप्पणी के मामले में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद फैली यूपी में हिंसा पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को सख्ती से निपटने के निर्देश दिए हैं.

Yogi On Law and Order: पैगंबर मोहम्मद विवाद (Prophet Mohammad Row) पर शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद फैली हिंसा (violence) पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री (UP CM) योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अधिकारियों को दोषियों के खिलाफ सख्ती से निपटने के निर्देश (Instruction) दिए हैं. सूबे के अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग (Video Conferencing) के जरिए हुई समीक्षा बैठक में अधिकारियों को कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. उन्होंने अधिकारियों के सख्त हिदायत देते हुए कहा है कि उपद्रवियों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई (Action Against Culprit) हो जो असमाजिक सोच रखने वाले सभी तत्वों के लिए एक नजीर बने और कोई माहौल बिगाड़ने के बारे में सोच भी न सके.

इतना ही नहीं मामले पर सीएम योगी बेहद सख्त नजर आए और कहा कि सार्वजनिक और आमजन की संपत्ति को हुए नुकसान की वसूली दोषी व्यक्ति से ही कराई जाए. उन्होंने कहा कि प्रयागराज में वसूली की नोटिस भेजे जाने की कार्यवाही प्रारंभ हो गई है और अन्य जनपद भी तत्परता के साथ कार्यवाही करें.

सीएम योगी के दिशा निर्देश इन प्वाइंट्स में समझिए-

  • साजिशकर्ताओं ने कम उम्र के युवाओं को सहारा बनाया. ऐसे में मुख्य साजिशकर्ता की पहचान जरूरी है. यह समझना होगा कि असामाजिक तत्वों द्वारा ऐसे प्रयास आने वाले दिनों में फिर से हो सकते हैं.
  • कार्रवाई ऐसी हो जो असामाजिक सोच रखने वाले सभी तत्वों के लिए एक नजीर बने. माहौल बिगाड़ने के बारे में कोई सोच भी न सके. ऐसे में संवाद और सेक्टर स्कीम लागू की जाए.
  •  कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के लिए फील्ड के अधिकारियों के पास सभी तरह के निर्णय लेने का अधिकार है. स्थानीय स्थिति-परिस्थिति को देखते हुए अपने यथोचित निर्णय लें.
  • प्रत्येक दशा में सार्वजनिक/आमजन की संपत्ति को हुई क्षति की वसूली सम्बंधित दोषी व्यक्ति से ही कराई जाए.
  • अवैध कमाई समाजविरोधी कार्यों में ही खर्च होती है. ऐसे में साजिशकर्ताओं/अभियुक्तों के बैंक खातों/संपत्ति आदि का पूरा विवरण एकत्रित करें. इनके वित्तीय स्रोत की गहनता से पड़ताल की जाए.
  • "बुल्डोजर" की कार्रवाई पेशेवर अपराधियों/माफियाओं के विरुद्ध है. यह कार्रवाई सतत जारी रखी जाए. प्रदेश में किसी गरीब के घर पर गलती से भी कोई कार्रवाई नहीं होगी.
  • साजिशकर्ताओं/अभियुक्तों की पहचान कर ऐसे लोगों के विरुद्ध एनएसए अथवा गैंगस्टर के नियमों के तहत नियमसंगत कार्रवाई की जाए.

माहौल बिगाड़ने वाली कोशिश स्वीकार नहीं

इसके अलावा सीएम योगी (CM Yogi) ये भी कहा कि यदि किसी गरीब (Poor) और असहाय व्यक्ति ने किन्हीं कारणों से अनुपयुक्त जगह पर घर (Home) बना लिया है  तो पहले स्थानीय प्रशासन (Local administration) उसके लिए नए ठिकाने (New Place) की व्यवस्था करे फिर अन्य की कार्रवाई की जाए. माफिया (Gangster) को

Post a Comment

Previous Post Next Post