China on Al-Zawahiri Death: अयमान अल जवाहिरी पर अमेरिकी ड्रोन हमले पर चीन बोला, 'आतंकवाद के खिलाफ हैं, लेकिन...'

 

China: चीन ने कहा कि वह आतंकवाद के सभी स्वरूपों के खिलाफ है, लेकिन साथ ही आतंकवाद रोधी अभियान के दोहरे मानक और दूसरे देशों की संप्रभुता की कीमत पर इसे अंजाम देने के खिलाफ है.

China on Al-Zawahiri Death:  चीन (China) ने अलकायदा नेता अयमान अल जवाहिरी (Al-Qaeda leader Ayman al-Zawahiri) के अफगानिस्तान (Afghanistan) में काबुल (Qabul) के नजदीक अमेरिकी ड्रोन हमले (US Dron Attack) में मारे जाने पर मंगलवार को सधी हुई प्रतिक्रिया दी. चीन (China) ने कहा कि वह आतंकवाद के सभी स्वरूपों के खिलाफ है, लेकिन साथ ही आतंकवाद रोधी अभियान के दोहरे मानक और दूसरे देशों की संप्रभुता की कीमत पर इसे अंजाम देने के खिलाफ है. सेंट्रल इंटेलीजेंस एजेंसी (CIA) द्वारा काबुल में किए गए हमले में अल जवाहिरी के मारे जाने के बारे में पूछे जाने पर चीन की सहायक विदेश मंत्री हुआ चुनयिंग ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा,  'हमने प्रासंगिक खबरें देखी हैं.'

चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता की भी जिम्मेदारी निभा रही हुआ ने कहा, 'चीन हमेशा से आतंकवाद के खिलाफ रहा है. हम सक्रिय रूप से अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद रोधी अभियानों में शामिल रहे हैं. लेकिन साथ ही हम मानते हैं कि आतंकवाद पर दोहरे मानक नहीं होने चाहिए और सभी तरह के आतंकवाद के खिलाफ लड़ा जाना चाहिए.' हुआ ने कहा, 'आतंकवाद रोधी सहयोग दूसरे देश की संप्रभुता की कीमत पर नहीं किया जाना चाहिए.'

जो बाइडेन ने किया अलजवाहिरी की मौत का ऐलान
गौरतलब है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने सोमवार को अल जवाहिरी की मौत की घोषणा की. उन्होंने बताया कि जवाहिरी शनिवार शाम को सीआईए द्वारा काबुल में एक घर पर किए गए हमले में मारा गया, जहां वह परिवार के सदस्यों से मिलने के लिए रुका था.

अलजवाहिरी को मारने के लिए पाकिस्तानी बेस का इस्तेमाल
कहा जा रहा है कि अलकायदा (Al-Qaeda) के सरगना अलजवाहिरी (Al-Zawahiri) को मारने के लिए अमेरिका (America) ने पाकिस्तानी बेस (Pakistani Base) का इस्तेमाल किया है. तो वहीं पाकिस्तानी सेना ने इस बात से साफ इनकार कर दिया है कि इस कार्रवाई में पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का इस्तेमाल नहीं किया है. अमेरिका ने अलजवाहिरी को 31 जुलाई की सुबह 6 बजकर 18 मिनट पर मार गिराया था. अलजवाहिरी काबुल (Kabul) के शेरपुर इलाके में छिपा हुआ था और जैसे ही ये बालकनी से बाहर निकला अमेरिकी ड्रोन (Drone) ने इसे मार गिराया.  

Post a Comment

Previous Post Next Post