Independence Day 2022: देश तो 1947 में आजाद हो गया लेकिन बॉलीवुड अब भी लड़ रहा है आज़ादी की लड़ाई!

 

Independence Day 2022: इस 15 अगस्त को देश की आजादी को 75 साल पूरे हो रहे हैं. इस मौके पर भारत की सबसे बड़ी सांस्कृतिक पहचान फिल्मों की बात करना तो लाजमी है जिन्होंने आजादी के संघर्ष को हम तक पहुंचाया.

Independence Day 2022: इस 15 अगस्त को देश की आजादी को 75 साल पूरे हो रहे हैं. इस ऐतिहासिक मौके पर भारत की सबसे बड़ी सांस्कृतिक पहचान फिल्मों की बात करना तो लाजमी है जिन्होंने आजादी के संघर्ष को हम तक पहुंचाया. इन्हीं फिल्मों के जरिए हम 75 सालों से आजादी के दीवानों की बहादुरी और दिलेरी की दास्तां सुनते आए हैं. हमने फिल्मों के जरिए ही आजादी के आंदोलन के हिंसक और अमन पसंद पहलुओं को जाना है. देश को आजादी तो 1947 में मिल गई थी लेकिन सिनेमा ने इस लड़ाई को आज तक जारी रखा है और हम तक पहुंचाता रहता है. जिससे हम आजादी के संघर्ष के हर पहलू को जान सके. 

शहीद 
1965 में आई 'शहीद' भगत सिंह के जीवन पर आधारित है. फिल्म की कहानी स्वयं 'भगत सिंह' के साथी बटुकेश्वर दत्त ने लिखी थी. इस फिल्म में अमर शहीद राम प्रसाद बिस्मिल के गीत थे. मनोज कुमार ने इस फिल्म में शहीद भगत सिंह का जीवन्त अभिनय किया था. 

मदर इंडिया 
1957 में आई 'मदर इंडिया' एक भारतीय महिला के संघर्ष की शानदार दास्तां है. ये फ़िल्म आपकी आंखें नम कर देगी. फिल्म की कहानी राधा के संघर्ष, बलिदान और सम्मान की है. साथ ही ये फिल्म कहीं न कहीं उस आजाद भारत की कहानी भी है जो अंग्रेज़ों से छुटकारा पाकर अपने पैरों पर खड़ा होने की कोशिश कर रहा था. फ़िल्म के एक सीन में राधा को भारत माता के तौर पर दिखाया जाता है, जो किसानों से देश के निर्माण की अपील करती है. ये पहली भारतीय फ़िल्म थी जो ऑस्कर में नामित हुई थी. फिल्म में नरगिस दत्त ने राधा का किरदार अदा किया है. 

गांधी
1982 में रिलीज हुई इस फिल्म में महात्मा गांधी का रोल विदेशी एक्टर बेन किंग्सले ने निभाया था. इनके अलावा मार्टिन सीन, जॉन मिल्स, ट्रेवर होवर्ड भी थे. एक्ट्रेस रोहिणी हट्टंगडी हैं. फिल्म में विलेन का रोल अलेक पद्मसी और एडवर्ड फॉक्स ने प्ले किया है.

बॉर्डर
1997 में रिलीज हुई यह फिल्म भारत-पाकिस्तान के बीच 1971 में हुए लोंगेवाला के युद्ध पर आधारित है. भारत के 120 जवानों ने पाकिस्तानी फौज को धूल चटा दी थी. 

द लीजेंड ऑफ भगत सिंह
जब आजादी पर फिल्मों की बात हो और भगत सिंह को याद न किया जाए ऐसा हो ही नहीं सकता. 2002 में रिलीज हुई इस फिल्म में मुख्य किरदार अजय देवगन, सुशांत सिंह और डी संतोष ने निभाया था. फिल्म की एक्ट्रेस अमृता राव थीं. फिल्म भगत सिंह की जिंदगी पर आधारित थी. 

लगान
मदर इंडिया के बाद ऑस्कर में जाने वाली भारतीय फिल्म थी 2001 में आई लगान. फ़िल्म की कहानी भी अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ भारतीयों के संघर्ष की ही कहानी थी. बॉक्स ऑफ़िस लगान को ज़बरदस्त कामयाबी मिली. 

मंगल पांडे 'द राइज़िंग'
ये फिल्म 1857 के पहले स्वतंत्रता संग्राम पर आधारित थी. मंगल पांडे ईस्ट इंडिया कंपनी के सैनिक थे, जिन्होंने अंग्रेज़ों के ख़िलाफ़ बग़ावत का बिगुल फूंका था. 

रंग दे बसंती
2006 में आई आमिर ख़ान की फ़िल्म रंग दे बसंती ने ज़बरदस्त कामयाबी हासिल की थी. इस फिल्म ने युवाओं में देशभक्ति का एक जजबा भर दिया. 

केसरी 
2019 में रिलीज हुई यह फिल्म सारागढ़ी के युद्ध पर आधारित है. यह युद्ध ब्रिटिश भारतीय सेना की 36वीं सिख रेजीमेंट के 21 सैनिकों और 6 हजार से ज्यादा अफगानी और पश्तूनी कबीलों के बीच हुआ था. 


Post a Comment

Previous Post Next Post